director's message - Parishkar Group of Institutions

  • Home
  • director’s message

हम मार्च, 2017 में NAAC द्वारा ‘A’ Grade घोषित हो चुके थे, परिष्कार के सभी शिक्षकों ने NAAC द्वारा दिए गए सुझावो को क्रियान्वित कर यहाँ की विद्यार्थी-केंद्रित शिक्षण-पद्धति को और मजबूत करने का संकल्प लिया।

विद्यार्थी.केंद्रित शिक्षण.पद्धति में हमने बीज शब्द (key words) बीज अवधारणा (key concept) तथा अध्ययन.पत्र (studysheets) के द्वारा सभी शिक्षकों एवं विद्यार्थियों के सीखने के विस्तार और गहराई को अद्भुत मजबूती दी है जिसके शानदार नतीजे हमारे कर्मठ विद्यार्थियों के विश्वविद्यालयी परीक्षा परिणामों में देखे जा सकते हैं। 2016 में राजस्थान विश्वविद्यालय से संबंद्ध 1000 कॉलेजों में हमारे कॉलेज के ही विद्यार्थियों का न केवल BA में बल्कि B.Com में भी Top करना; BA और B.Sc में 9 मेरिट प्राप्त कर लेना उल्लेखनीय रहा तो 2017 की परीक्षाओं में हमारे गमनाराम ने BA Pt-I  में टॉप किया तो महेंद्र ने BA Pt-II में II Position ली, B Sc Pt-I के राजेश ने VI BA Pt-i के वागसिंह ने VIII, BA Pt-II के हिमांशु ने VIII,  BA Pt-III के चिमन ने VIII position प्राप्त की। हम 2011 के बाद लगातार मेरिट में हैं। खेलों में 2016-17 में 79 पदक जीते तो 2017-18 में 116 पदक जीत गए राजस्थान में सबसे अधिक पदक।

हमारे B Sc Pt-III के परीक्षा परिणाम तथा (3 जून, 2017) तो और भी अद्भुत रहे हैं। परिष्कार कॉलेज का B Sc Pt-III का यह पहला ही बैच है जो Passout हुआ है, और इसका परीक्षा परिणाम 99% रहा है तथा उनमें भी Bio में 100% रिजल्ट जिसमें 64% विद्यार्थियों का Ist Division, B Sc PCM  का 99% रिजल्ट और 82% विद्यार्थियों को Ist डिवीजन, Chemistry-III में 83% का एवं Maths-III में 100% विद्यार्थियों का Ist Division रहा है। दरअसल परिष्कार कॉलेज में विज्ञान के अध्ययन को यहाँ के अत्यंत समर्पित एवं योग्य शिक्षकों और मेहनती और अनुशासित विद्यार्थियों ने मिलकर जो ऊँचाइयाँ प्रदान की हैं वे अद्भुत हैं, और इस कॉलेज के प्रत्येक सदस्य द्वारा गर्व करने योग्य हैं। BA और  B Com में तो हम University Topper तो अनेक बार रहे ही हैं किंतु हमारे अन्य विद्यार्थी भी परीक्षा परिणामों में बहुत मजबूत रहे हैं।

2018-19 का सत्र एक ओर अब तक के शैक्षणिक एवं शिक्षणेतर गतिविधियों को और अधिक निखारने का वर्ष है तो दूसरी ओर प्रत्येक शिक्षक एवं प्रत्येक विद्यार्थी द्वारा किसी-न-किसी छोटी.सी समस्या को लेकर उस पर शोध करने का भी है ताकि हम विश्वविद्यालय के पाठ्यक्रम को तो मजबूती दें ही किंतु उससे बाहर भी निकलें। जिंदगी की समस्याओं से निकटता से जुड़ें और इस दुनिया की समस्याओं को सुलझाने में अपना निजी योगदान देना अवश्य सीखें। यही सच्ची उच्च शिक्षा है; इसी से जीवन भर आपका व्यक्तित्व खिलेगा; इसी से आपको संतोष और आनंद प्राप्त होगा और इसी से आप IAS, RAS जैसे उच्च स्तर के जिम्मेदारी भरे पद भी मिलेंगे।

हर कोई प्रबंधन, चाहे वह सरकारी हो या गै़र.सरकारी, समस्याएँ पैदा करनेवाला कार्मिक नहीं चाहता, समस्याओं का समाधान करनेवाला, विवेकशील और कुशल इंसान चाहता है, तो फिर हम हमारे विश्व स्तर के जिम्मेदार विद्यार्थी में समस्याओं का समाधान करनेवाली, शोधपरक प्रवृत्ति को जगाएँ और विकसित करें। दुनियाभर के विश्वविद्यालय यही कर रहे हैं, फिर परिष्कार कॉलेज उनसे पीछे क्यों रहे।

अब हमारे देश की शैक्षिक चुनौती वैश्विक है और हमें उसका जवाब देने हेतु जुट जाना है। हमारे कॉलेज का नाम है – परिष्कार कॉलेज ऑफ़ ग्लोबल एक्सीलेंस। आइए, हम सब मिलकर उस वैश्विक उत्कृष्टता को प्राप्त करें जो हमारे नाम के साथ ही जुड़ी हुई है-ग्लोबल एक्सीलेंस।